ऑस्ट्रेलिया के बाद पाकिस्तान की बारी, धोनी ने जताया विश्वास

Font Size : अ- | अ+ comment-imageComment print-imagePrint

अहमदाबाद. भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा है कि ऑस्ट्रेलिया को हराने के बाद भारतीय टीम पाकिस्तान से निबटने को तैयार है लेकिन उन्होंने यह भी माना कि सेमीफाइनल मुकाबले में भारतीय टीम पर दबाव ज्‍यादा होगा।

धोनी ने तीन बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया टीम पर मिली पांच विकेट की शानदार जीत के बाद कहा कि मोहाली में पाकिस्‍तान के खिलाफ होने वाला मुकाबला एक बड़ा मैच होगा। वैसे भी भारत-पाकिस्तान के मुकाबले हमेशा दबाव भरे होते हैं, लेकिन मेजबान होने के नाते निश्चित तौर पर भारत पर दबाव ज्यादा होगा। धोनी ने कहा कि भारत ही नहीं, दुनिया भर में लोग भारत से जीत की उम्मीदें लगाए बैठे हैं। इसलिए टीम को सेमीफाइनल में दबाव झेलने के लिए तैयार रहना होगा।

इससे पहले मैन ऑफ द मैच युवराज सिंह (57* रन, 2 विकेट) के दोहरे प्रदर्शन और सचिन तेंडुलकर (53) और गौतम गंभीर (50) व सुरेश रैना (34) की आतिशी पारियों के दम पर भारत ने यहां खेले गए क्‍वार्टर फाइनल में 5 विकेट की धमाकेदार जीत के साथ वर्ल्डकप के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। ऑस्ट्रेलिया की बादशाहत खत्म करने वाली टीम इंडिया अब 30 मार्च को मोहाली में होने वाले सेमीफाइनल में पाकिस्तान से भिड़ेगी।

धोनी की अगुवाई में भारतीय टीम ने गुरुवार को यहां मोटेरा के सरदार पटेल स्टेडियम में कंगारुओं को 260 रनों पर रोका। फिर 47.4 ओवर में पांच विकेट पर लक्ष्य हासिल कर रिकी पोंटिंग (104) के शतक और उनकी कप्तानी में वर्ल्डकप जीत की हैट्रिक पर भी पानी फेर डाला।

धोनी ने हरफनमौला प्रदर्शन करने वाले युवराज की जमकर तारीफ की। भारतीय कप्‍तान ने कहा, ‘युवराज ने विकट परिस्थितियों में खुद पर काबू रखने की कला विकसित की है और उनके हरफनमौला प्रदर्शन की बदौलत टीम इस मुकाम पर पहुंच सकी है। मैच के बीच में निश्चित रूप से हम पर दबाव बढ़ गया था, लेकिन युवराज ने ऐसे में गजब आत्मसंयम का परिचय दिया। दबाव को झेल पाना हमारी जरूरत थी और युवी ने इसे कर दिखाया। गेंद और बल्ले से तो उन्होंने कमाल दिखाया ही फील्डिंग में भी गजब की फुर्ती दिखाई।’

18 हजारी बने सचिन : सचिन तेंडुलकर भले ही इस मैच में अपना सौवां इंटरनेशनल शतक नहीं जमा सके लेकिन उन्होंने वनडे क्रिकेट कॅरियर में 18 हजार रन पूरे कर अपने रिकॉर्डो में एक और नायाब हीरा जड़ लिया। लक्ष्य का पीछा करने उतरे सचिन और सहवाग (15) ने टीम को 44 रन जोड़कर अच्छी शुरुआत दी। इस स्कोर पर सहवाग के आउट होने के बाद सचिन व गंभीर ने टीम को 94 रन तक पहुंचाया। इस दौरान सचिन ने जैसे ही 45वां रन बनाया, वे 18000 रन बनाने वाले पहले खिलाड़ी बन गए। जब सचिन 53 पर पहुंचे तब शॉन टैट ने उन्हें हैडिन के हाथों लपकवाकर पैवेलियन भेज दिया। गंभीर, कोहली और धोनी को 43 रन के अंतराल पर आउट कर ऑस्ट्रेलिया ने वापसी की कोशिश की।

युवी का दमदार अर्धशतक : युवराज सिंह और सुरेश रैना ने 74 रन की नाबाद साझेदारी कर ऑस्ट्रेलिया की वापसी के अरमानों पर पानी फेर दिया। युवी ने 57 रन की पारी में 8 चौके लगाए। रैना ने भी उनका बढ़िया साथ दिया और दो चौके व एक छक्के की मदद से 34 रन बनाए।

पोंटिंग की शानदार पारी

इससे पहले कप्तान रिकी पोंटिंग ने शतकीय पारी खेलकर टीम को 260 रन तक पहुंचने में मुख्य भूमिका निभाई। उन्होंने अपने वनडे कॅरियर का 30वां शतक जमाया। यह उनका वर्ल्डकप में पांचवां व भारत के खिलाफ छठा शतक है। पोंटिंग ने शतक 113 गेंदों पर 7 चौके व एक छक्के की मदद से पूरा किया। उनके अलावा ब्रैड हैडिन (53) और डेविड हसी (38) ने बढ़िया पारी खेली।

अश्विन ने शुरू की गेंदबाजी

इससे पहले भारत के लिए ऑफ स्पिनर अश्विन ने गेंदबाजी की शुरुआत की। वे टीम की रणनीति पर खरे उतरे और वाटसन को आउट कर ऑस्ट्रेलिया को पहला झटका दिया। उनके अलावा जहीर (2 विकेट) ने अच्छी गेंदबाजी की।

Posted on Mar 25th, 2011
SocialTwist Tell-a-Friend
Posted in :  खेल्र, बड़ी खबर     
Subscribe by Email

1 Response to " ऑस्ट्रेलिया के बाद पाकिस्तान की बारी, धोनी ने जताया विश्वास "

  1. storify.com says:

    Tiens je comptais écrire un petit poste identique au tiens

Leave a comment

Type Comments in Indian languages (Press Ctrl+g to toggle between English and Hindi OR just Click on the letter)


विदेश

राज्य

महिला

अपराध

ब्यूटी