सीएम की तलाश में 3 हजार जवान,और वायुसेना भी तैनात

Font Size : अ- | अ+ comment-imageComment print-imagePrint

ईटानगर. अरुणाचल प्रदेश के सीएम दोरजी खांडू के हेलीकॉप्‍टर का अभी तक पता नहीं चल सका है। भारतीय वायु सेना, आर्मी, एसएसबी और आईटीबीपी की मदद से सीएम के हेलीकॉप्‍टर की तलाश में जुटे हैं। इस ऑपरेशन में भारत और भूटान के कुल 3 हजार से ज्‍यादा जवान बीहड़ इलाकों में निकल चुके हैं। हालांकि खराब मौसम की वजह से तलाशी अभियान में दिक्‍कत आ रही है।

शिलांग में एयरफोर्स के पूर्वी कमान मुख्‍यालय में वायुसेना के प्रवक्‍ता रंजीब साहू के मुताबिक दो एमआई 17 और दो चीता हेलीकॉप्‍टरों को सीएम के लापता हेलीकॉप्‍टर का पता लगाने के लिए अभियान में लगाया गया है। खराब मौसम की वजह से तलाशी अभियान का काम शनिवार को रोकना पड़ा था।

साहू ने कहा कि राहत टीमें अरुणाचल से सटते पड़ोसी देश भूटान के हवाई इलाकों में भी तलाशी अभियान चलाएगी क्‍योंकि कल ऐसी खबर आई थी कि सीएम का हेलीकॉप्‍टर पड़ोसी देश में लैंड कर गया है। भूटान के सैनिक भी हेलीकॉप्‍टर की तलाश में जमीनी अभियान में जुट गए हैं।

रक्षा विभाग के सूत्रों के मुताबिक तवांग और तेंगा से सेना के करीब 2500 जवान भारत-भूटान की सीमा के समीप विभिन्‍न स्‍थानों पर तलाशी अभियान में जुटे हैं। सेना ने और जवानों की भी तैनाती करने की बात कही है। आईटीबीपी के 150 कर्मी भी जमीनी अभियान में जुटे हैं। ये सैनिक दुर्गम चट्टानों के बीच से होते हुए उन पहाड़ों पर खोज कर रहे हैं, जहां हेलीकॉप्‍टर के गिरने की आशंका व्‍यक्‍त की गई है। 600 से ज्‍यादा भूटान के सैनिक अपने देश के छह जिलों में हेलीकॉप्‍टर की खोज में निकल चुके हैं। इनके अलावा राज्‍य पुलिस के जवान भी इस काम में लगे हैं।

नई दिल्‍ली में वायु सेना के अधिकारियों ने बताया कि बरेली से दो सुखोई-30 लड़ाकू विमान भी इलाके में अभियान में लगे हैं जो अपने खास राडार से लापता हेलीकॉप्‍टर का पता लगाएंगे। इसरो भी सेटेलाइट से खींची गईं तस्‍वीरों के माध्‍यम से मुख्‍यंमत्री के हेलीकॉप्‍टर की खोज कर रहा है। इसरो ने आज तवांग से ईटानगर के बीच के तस्‍वीर जारी किए हैं लेकिन इससे भी सीएम के हेलीकॉप्‍टर का सुराग नहीं मिल सका है।

केंद्र सरकार भी इस मसले पर भूटान की सरकार से लगातार संपर्क में है। पीएम मनमोहन सिंह के निर्देश पर केंद्र सरकार के दो मंत्री मुकुल वासनिक और वी नारायणस्‍वामी आज ईटानगर पहुंच रहे हैं जो तलाशी अभियान का जायजा लेंगे। विदेश मंत्री एस एम कृष्‍णा ने आज भूटान के प्रधानमंत्री से टेलीफोन पर बात कर उनके देश की सीमा में भारतीय सेना के तलाशी अभियान की इजाजत मांगी। जिस पर भूटान के पीएम ने लापता हेलीकॉप्‍टर की तलाशी में हरसंभवन मदद का आश्‍वासन दिया।

अरुणाचल प्रदेश से सांसद तकम संजय ने बताया, ‘मुख्यमंत्री की कोई खबर नहीं हैं और दुखद बात यह है कि खराब मौसम के कारण तलाशी के लिए हेलिकॉप्टरों का उपयोग नहीं हो पा रहा है।’

संजय ने कहा, ‘अभी हम नहीं जानते की हेलिकॉप्टर कहां है और भूटान ने किसी भी हेलिकॉप्टर के उतरने की बात से इनकार किया है। इससे पहले खबर मिली थी कि मुख्यमंत्री का हेलिकॉप्टर पूर्वी भूटान में किसी जगह पर उतरा है।’ उन्‍होंने कहा, ‘तलाशी अभियान शुरू करने के लिए गुवाहाटी और तेजपुर में भारतीय वायु सेना के दो हेलिकॉप्टर तलाशी अभियान शुरू करने के लिए इंतजार कर रहे हैं लेकिन प्रदेश में भारी बारिश के कारण अभियान में देरी हो रही है।’

अरुणाचल प्रदेश के सीएम दोरजी खांडू और 4 अन्‍य लोगों को लेकर शनिवार सुबह करीब 10 बजे पवनहंस का ए350-बी3 हेलीकॉप्‍टर तवांग से ईटानगर के लिए उड़ा था। पर तुरंत ही यह लापता हो गया। इसे 11.30 बजे लैंड करना था, लेकिन करीब 2.30 बजे खबर दी गई कि हेलीकॉप्‍टर की तवांग के पास, भूटानी सीमा में सुरक्षित आपात लैंडिंग हुई है।

सीएम के साथ कैप्‍टन जे एस बब्‍बर, कैप्‍टन टी एस मामिक, खांडू के सिक्‍योरिटी अफसर येशी छोढक और येशी लहमू शामिल थे। येशी तवांग के विधायक की बहन हैं। हेलीकॉप्‍टर को 11:30 बजे ईटानगर पहुंचना था, लेकिन खबर आई कि मुख्‍यमंत्री का हेलीकॉप्‍टर लापता है। शनिवार रात में अंधेरे और खराब मौसम के कारण सर्च ऑपरेशन जारी नहीं रखा जा सका, हालांकि जमीनी अभियान रात भर चलता रहा।

Posted on May 1st, 2011
SocialTwist Tell-a-Friend
Posted in :  बड़ी खबर     
Subscribe by Email

Leave a comment

Type Comments in Indian languages (Press Ctrl+g to toggle between English and Hindi OR just Click on the letter)


विदेश

राज्य

महिला

अपराध

ब्यूटी