दिग्विजय के अंदर ओसामा की आत्मा: नकवी

Font Size : अ- | अ+ comment-imageComment print-imagePrint

मुंबई आतंकी घटना के साथ ही कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह अपने बयानों के कारण फिर से भाजपा के निशाने पर आ गए हैं। भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने सीधे-सीधे उनकी मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि वह देश को भटका कर अपनी राजनीति साधना चाहते हैं। वरना जिस संघ को पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रवादी कह चुके हैं उसे आतंकवाद से नहीं जोड़ा जाता।

पार्टी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से दिग्विजय के बयान के लिए माफी की मांग की। पार्टी के दूसरे नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने तो यहां तक कह दिया कि दिग्विजय के अंदर ओसामा बिन लादेन की आत्मा घुस गई है।

वहीं कांग्रेस ने पार्टी महासचिव दिग्विजय सिंह के विवादास्पद बयान पर टिप्पणी करने में सावधानी बरती। पार्टी प्रवक्ता शकील अहमद ने यहां कहा, यह तय करना जांच एजेंसियों का काम है कि किसे शामिल करना है और किसे बाहर करना है।

शाहनवाज ने कहा, कांग्रेस शवों पर राजनीति कर रही है। क्या दिग्विजय सिंह गृह मंत्रालय व अन्य सभी भारतीय जांच एजेंसियों से ऊपर हैं जो वह कुछ भी कह सकते हैं? भारतीय राजनीति में कुछ लोगों को बड़बोलेपन की आदत हैं, वे बोलने से पहले सोचते नहीं हैं। जांच एजेंसियां जहां मुंबई घटना के तार ढूंढ़ने में लगी हैं, वहीं दिग्विजय ने परोक्ष रूप से संघ का नाम लेकर मामले को गर्मा दिया है।

उन्होंने इस घटना के लिए संघ को सीधे तौर पर तो जिम्मेदार नहीं ठहराया, लेकिन कहा कि उनके पास कुछ आतंकी घटनाओं में संघ का हाथ होने के सबूत हैं। भाजपा में तत्काल प्रतिक्रिया हुई। पार्टी प्रवक्ता शाहनवाज ने इसे राजनीतिक हथकंडा करार देते हुए कांग्रेस पर राजनीतिक हमला बोल दिया। मालूम हो कि अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस और भाजपा के बीच आरोप-प्रत्यारोप का राजनीतिक महत्व भी है। यही कारण है कि रविवार को शाहनवाज ने दिग्विजय के सहारे सोनिया और राहुल को भी लपेट लिया।

राहुल से दिग्विजय की नजदीकी का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि राहुल खुद जो नहीं कह पाते हैं वह दिग्विजय से कहलवाते हैं। देश आतंकवाद से जूझ रहा है। गृह मंत्रालय तक घटना के जिम्मेदार लोगों की खोज में जुटा है। ऐसे में दिग्विजय का संघ पर आरोप लगाना गंदी राजनीति के अलावा कुछ नहीं है, बल्कि वह जांच को भटकाने का प्रयास कर रहे हैं।

वह उस संगठन पर उंगली उठा रहे हैं जिसे नेहरू ने राष्ट्रवादी करार दिया था, लिहाजा खुद सोनिया और राहुल को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए।

दिग्विजय की ओर से सुरेश कलमाड़ी का बचाव किए जाने पर भी उन्होंने आश्चर्य जताया। शाहनवाज ने कहा कि कलमाड़ी राष्ट्रमंडल जांच के घेरे में हैं, लेकिन कांग्रेस महासचिव ने उन्हें निर्दोष करार दे दिया है।

मुख्तार अब्बास नकवी ने अपनी आपत्ति जताते हुए कहा कि दिग्विजय जिस तरह का बयान दे रहे हैं उससे लगता है कि वह आतंकियों का मुखपत्र बन गए हैं। शायद उनके अंदर ओसामा की आत्मा घुस गई है। कांग्रेस को चाहिए कि अरब सागर के तट पर ले जाकर उनका पारंपरिक इलाज करवाए।

Posted on Jul 17th, 2011
SocialTwist Tell-a-Friend
Posted in :  राजनीति     
Subscribe by Email

Leave a comment

Type Comments in Indian languages (Press Ctrl+g to toggle between English and Hindi OR just Click on the letter)


विदेश

राज्य

महिला

अपराध

ब्यूटी