वीरू के विस्फोट में उड़ा बांग्लादेश

Font Size : अ- | अ+ comment-imageComment print-imagePrint

ढाका. वीरेन्द्र सहवाग की विस्फोटक पारी और विराट कोहली की बेरहम बल्लेबाजी के बूते भारत ने उद्घाटन मैच में बांग्लादेश को 87 रन से रौंदकर उससे पिछले वर्ल्ड कप में मिली हार का बदला चुका लिया।

भारत के चार विकेट पर 370 रन के विशाल स्कोर के जवाब में बांग्लादेश की टीम कड़ा संघर्ष करने के बावजूद पहाड़नुमा स्कोर के दबाव में दम तोड़ गई और नौ विकेट पर 283 रन ही बना सकी।

सहवाग ने विश्वकप शुरू होने से पहले कहा था कि उनका लक्ष्य बांग्लादेश से 2007 में मिली हार का बदला लेना है और उन्होंने अपने इस वादे को पूरा किया। इस दौरान उन्होंने न केवल विश्वकप के उद्घाटन मैच की सर्वश्रेष्ठ पारी खेली बल्कि अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी भी खेली।

सहवाग और कोहली की बेरहम बल्लेबाजी

‘मैन ऑफ द मैच’ सहवाग ने प्रतिभाशाली बल्लेबाज कोहली के साथ तीसरे विकेट के लिए 203 रन की शानदार साझेदारी की। कोहली विश्वकप के अपने पहले ही मैच में शतक जमाने का कारनामा कर दिखाया। सहवाग ने 140 गेंदों में 14 चौकों और पांच छक्कों की मदद से बेहतरीन 175 रन बनाए जबकि कोहली ने 83 गेंदों में आठ चौकों और दो छक्कों की मदद से नाबाद 100 रन ठोके।

बांग्लादेश पारी

बांग्लादेश को तमीम (70) और कायेस (34) ने पहले विकेट के लिए सिर्फ 6.5 ओवर में 56 रन जोड़कर तूफानी शुरुआत दी। कायेस सात चौकों की मदद से 29 गेंदों में 34 रन बनाकर मुनाफ का पहला शिकार बने। तमीम ने सिद्दकी के साथ बांग्लादेश के स्कोर को 24वें ओवर में 129 तक पहुंचा दिया। लेकिन सिद्दकी हरभजन की एक बेहतरीन गेंद पर विकेटकीपर महेन्द्र सिंह धोनी के हाथों स्टंप हो गए।

सिद्दकी ने 37 रन की अपनी पारी में एक चौका और एक छक्का लगाया। कप्तान शाकिब और तमीम ने स्थिति को संभालने की कोशिश लेकिन मुनाफ की गेंद पर युवराज सिंह ने तमीम का बेहतरीन कैच लपक लिया। तमीम ने 70 गेंदों की अपनी पारी में तीन चौके और एक छक्का लगाया। इसके बाद बांग्लादेश की पारी दबाव में आ गई। हालांकि कप्तान शाकिब ने 50 गेंदों में पांच चौकों की मदद से 55 रन बनाए मगर लगातार बढ़ती रनगति ने बांग्लादेश की उम्मीदों को तोड़ दिया।

भारत की ओर से मुनाफ ने दस ओवर में 48 रन पर चार विकेट चटकाए जबकि जहीर को दो विकेट मिले। हरभजन सिंह और पठान को एक-एक विकेट मिला। शांतकुमारन श्रीसंत पांच ओवर में 53 रन लुटाकर कोई विकेट हासिल नहीं कर पाए।

भारतीय पारी

वीरेंद्र सहवाग और विराट कोहली के शानदार पारियों के बूते भारत ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवर में 4 विकेट पर 370 रन बनाए।

गौतम गंभीर

अच्छी बल्लेबाजी कर रहे गौतम गंभीर 39 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए हैं। उन्हें महमूदुल्ला ने क्लीन बोल्ड किया। सहवाग और गंभीर के बीच दूसरे विकेट के लिए 75 गेंदों में 83 रन की साझेदारी हुई।

सचिन तेंडुलकर

अच्छे फॉर्म में दिख रहे सचिन तेंडुलकर 28 रन के निजी स्कोर पर रन आउट हो गए थे। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग और सचिन तेंडुलकर ने मैच के पहले ही ओवर से अपना रुख साफ कर दिया था। दोनों के बीच पहले विकेट के लिए 69 रन की साझेदारी हुई।

शेर-ए-बांग्ला स्टेडियम में खेले जाने वाले विश्वकप 2011 के पहले मुकाबले में बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया।

मैच के लिए टीम इंडिया के प्लेइंग इलेवन में जहीर खान की वापसी हुई है। वहीं मुनाफ पटेल और एस श्रीसंथ को अंतिम एकादश में मौका दिया गया है।
मैच के लिए इस प्रकार थी टीम-

भारत- महेन्द्र सिंह धोनी (कप्तान), सचिन तेंडुलकर, वीरेन्द्र सहवाग, गौतम गंभीर, विराट कोहली, युवराज सिंह, यूसुफ पठान, हरभजन सिंह, जहीर खान, मुनाफ पटेल और शांतकुमारन श्रीसंथ।

बांग्लादेश- शाकिब अल हसन (कप्तान), तमीम इकबाल, इमरल कायेस, जुनैद सिद्दिकी, रकीबुल हसन, मुशफिकुर रहीम, महमूदुल्ला, नईम इस्लाम, अब्दुर रज्जाक, शफीउल इस्लाम और रबेल हुसैन।

Posted on Feb 19th, 2011
SocialTwist Tell-a-Friend
Posted in :  खेल्र, बड़ी खबर     
Subscribe by Email

Leave a comment

Type Comments in Indian languages (Press Ctrl+g to toggle between English and Hindi OR just Click on the letter)


विदेश

राज्य

महिला

अपराध

ब्यूटी