भ्रष्टाचारीयो के चौकीदार प्रधानमंत्री: बाबा रामदेव

Font Size : अ- | अ+ comment-imageComment print-imagePrint
नई दिल्ली।। योग गुरु बाबा राम देव ने सरकार से भ्रष्टाचार रोकने और ब्लैक मनी वापस लाने के लिए कदम उठाने की मांग करते हुए चेतावनी दी कि अगर सरकार ने ऐसा नहीं किया वह इसको लेकर जनता के बीच जाएंगे।

पंतजलि योग समिति और भारत स्वाभिमान ट्रस्ट की ओर से आयोजित रैली में बाबा रामदेव ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री से मैंने समय मांगा था लेकिन उन्होंने दिया नहीं। प्रधानमंत्री ने अगर समय नहीं दिया तो उनका भी समय पूरा हो जाएगा।’ रामदेव ने कहा, ‘ वह बेईमानों से घिरे ईमानदार व्यक्ति हैं। वह आज तक की सबसे भ्रष्ट सरकार के सबसे ईमानदार प्रधानमंत्री हैं। सरकार ने यदि संवैधानिक दायित्व नहीं निभाया तो हम उन्हें सिखाएंगे।’

उन्होंने कहा कि कालेधन और भ्रष्टाचार के पांच मूल स्रोत हैं। पहला बडे़ नोट और अधिक नोट, दूसरा अवैध-खनन, तीसरा विकास योजनाओं के धन की चोरी, चौथा रिश्वतखोरी और पांचवां टैक्स चोरी। बाबा रामदेव ने ब्लैक मनी और भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए पांच मुख्य उपाय बताए। पहला कठोर कानून बनाना और बड़े नोटों को प्रचलन से वापस लिया जाना, दूसरा सन् 2006 से लंबित भ्रष्टाचार के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन की संधि का अनुमोदन करना, मॉरिशस के रास्ते ब्लैक मनी को जायज बनाना बंद करना, ब्लैक मनी जमा करने वाले विदेशी बैंकों पर बैन लगाना और पांचवा विदेशी खाता नीति की तुरंत घोषणा करना।

बाबा रामदेव ने कहा कि देश का करीब चार सौ लाख करोड़ रुपये ब्लैक मनी के रूप में है जिसमें से तीन सौ करोड रुपये देश के बाहर स्विट्जरलैंड जैसे करों में छूट देने वाले 70 देशों में जमा हैं। इसके अलावा देश में भी 100 करोड़ रुपये अवैध ढंग से जमा किए गए हैं।

रामदेव ने कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नाम पर सिर्फ एक योजना शुरू की गई, जबकि एक परिवार के नाम पर देश की आधी से अधिक योजनाएं चल रही हैं। उन्होंने प्रश्न किया, सरदार बल्लभ भाई पटेल ने शहादत नहीं दी? उन्होंने मांग की कि जो लोग देश के लिए गाते हैं उन्हें भारतरत्न दो लेकिन उन्हें भी दो जिन्होंने देश के लिए अपनी शहादत दी थी।

रामदेव ने कहा, ‘माता के एक सेवक को ब्लडी इंडियन और कुत्ता कहा जाता है। ऐसा कहने वाले को संसद में बैठाया जाता है और ऊपर से बाबा से हिसाब मांगा जाता है। बाबा ने हाल ही में अपने ऊपर टिप्पणी करने वाले कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह पर भी निशाना साधा और कहा, ‘नेता ने मुझे कहा कि सरकार विरोध करना ठीक नहीं है। मैं बताना चाहता हूं कि हम सिंहासन पर बैठना, हटाना और बैठाना तीनों ही जानते हैं।’

अरविंद केजरीवाल ने रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘कानून बहुत पुराने हैं और इसे बदलने की जरूरत है। यहां ब्रिटिश कानून के आधार पर सरकार का विरोध करने वाले विनायक सेन को आजीवन कैद होती है लेकिन दो लाख करोड़ रुपये की हेराफेरी करने वाले राजा के अपराध को राजद्रोह नहीं माना जाता।’ उन्होंने कहा कि इसका खात्मा करने के लिए हम लोग सरकार से जन लोकपाल विधेयक को पास करने के लिए कह रहे हैं।

पूर्व इनकम टैक्स कमिश्नर विश्वबंधु गुप्ता ने कहा कि स्विट्जरलैंड के बैंक ने जिन 17 लोगों का नाम बताया है उसमें तीन नेताओं के भी हैं। इसमें से दो कांग्रेस के हैं। सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश ने कहा कि सरकार यह बताए कि उसने क्यों ब्लैक मनी रखने वाले दुनिया के सबसे बड़े बैंक यूबीएस को अपनी शाखाएं भारत में खोलने की अनुमति दे दी।

जनता पार्टी के अध्यक्ष सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, ‘देश में जो दाम बढ़ रहे हैं उसका कारण जमाखोर हैं जो भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे हैं।’ गांधीवादी कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने कहा कि जयप्रकाश नारायण ने जो आंदोलन छेड़ा था उसके बाद पहली बार इतनी बड़ी रैली आयोजित की गई है। उन्होंने कहा कि लोकपाल विधेयक पारित किए जाने पर ही भ्रष्टाचार पर रोक लगेगी। राम जेठमलानी ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर भी कुछ आरोप लगाए।

Posted on Mar 2nd, 2011
SocialTwist Tell-a-Friend
Posted in :  हिंदुस्तान     
Subscribe by Email

Leave a comment

Type Comments in Indian languages (Press Ctrl+g to toggle between English and Hindi OR just Click on the letter)


विदेश

राज्य

महिला

अपराध

ब्यूटी